Monday, May 2, 2011

सेवानिवृति पर दी विदाई

बिलासपुर। शनिवर को राजकीय माध्यमिक विद्यालय कपूरी कलां में कला अध्यापक पंडित मेघनाथ शर्मा को उनकी सेवानिवृति पर स्टाफ सदस्यों ने विदाई पार्टी दी। जिसमें स्कूल के सभी शिक्षकों व पंडित मेघनाथ शर्मा के परिजनों ने भाग लिया। विदाई समारोह के दौरान स्कूल के सभी शिक्षक व विद्यार्थी भाव विभोर हो गए।
स्कूल के हेड मास्टर अशोक शर्मा ने कहा कि पंडित मेघनाथ शर्मा हमारी स्कूल की टीम के सचिन तेंदूलकर रहे हैं। जब भी जरुरत पड़ती उन्होंने सभी मोर्चें संभाले हैं। स्कूल में अंदर उन्होंने डिस्पिलीन को मेंटेन किया हुआ था। स्कूल में बच्चों व शिक्षकों के बीच अगर कोई विवाद होता, तो उसे निपटाने में जज की भूमिका अदा करते थे और छानबीन करने के बाद सही निर्णय देते थे। शर्मा की विदाई के उपरांत उन्हें काफी हानि उठानी पड़ेगी, क्योंकि उनकी कमी को कोई पूरा नहीं कर सकता । अरुण शास्त्री ने कहा कि शर्मा जी बहु प्रतिभा के धनी है। जहां वे धार्मिक कार्यक्रमों में बढ़चढ़ कर भाग लेते हैं, वहीं उन्हें लेखन व गायन का भी शौक है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार ने भगवान श्रीराम ने १४ वर्ष का वनवास काट कर राक्षसों का संहार किया था, उसी प्रकार से पंडित मेघनाथ शर्मा ने कपूरी कला के स्कूल में १४ वर्षों के दौरान अंधकार व अज्ञान रूपी राक्षसों का संहार कर विद्यार्थियों में विद्या की जोत प्रज्ज्वलित की। उनके सरल स्वभाव की वजह से उनकी स्मृतियां ताउम्र उनके दिलों में विद्यमान रहेंगी। हरियाणा राज्य अध्यापक संघ के प्रधान बलदेव ने कहा कि शर्मा जी ने कभी भी काम से जी नहीं चुराया और अपनी मेहनत के बल पर स्कूल को नई बुलंदियों पर पहुंचाया है। सेवानिवृत अध्यापक रविदत्त ने पंडित मेघनाथ शर्मा को बधाई दी और उनकी लंबी आयु की कामना की। पंडित मेघनाथ शर्मा ने कहा कि विद्यालय में शिक्षण कार्य करते समय उन्हें अपने सहयोगियों से जो स्नेह मिला है, इसके लिए वे उनके ऋणी है। विदाई समारोह के दौरान पंडित मेघनाथ शर्मा ने आंखों को  नम करने वाली एक कविता प्रस्तुत की। जिसे सुनकर वहां मौजुद सभी की आंखें नम हो गई। उन्होंने कहा कि विदाई चाहे कैसी भी हो, वह कष्टदायक होती है। लेकिन उन्हें इस बात की खुशी है कि उन्होंने करीब ३० साल तक शिक्षा विभाग में नौकरी की है। मौके पर साइंस अध्यापिका मनविंद्र कौर, हरजिंद्र, पीटीआई हितेंद्र, रामसिंह, हंसराज, अनिल कुमार, रामकुमार,  राकेश गुप्ता, पंडित मेघनाथ शर्मा की धर्मपत्नी निर्मल शर्मा, बेटी शैलजा व प्रवेश, बेटा योगेश कुमार व अन्य लोग उपस्थित रहें।

1 comment:

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।