Monday, March 26, 2012

एंकर हरियाणा के मुख्यमंत्री को कुरूक्षेत्र में बुलाया तो गया था सैनी समाज ने संमानित करने के लिए लेकिन बातों ही बातों में मुख्ष्मंत्री के मुंह से निकले शब्द सैनी समाज को रास नही आए और समाज के लोग अब बगावत पर उतरने की बात कह रहे है हालाकि मुख्यमंत्री ने अखबार के माध्य से अपने कहे हुए शब्द को वापस लेने की बात भी कही है लेकिन यमुनानगर में पत्रकारों से बात करते हुए समाज के प्रतिनिधियों ने यह साफ कर दिया है कि यदि मुख्यमंत्री सीधे इन लोगो से माफी नही मांगते तो वह जंत्र मंत्र पर 31 तरीख को धरना प्रदर्शन करेंगे

वीओ एक यमुनानगर में सैनी समाज के प्रतिनिधियों ने इक्टठे होकर मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि हम लोगों ने मुख्यमंत्री को कुरूक्षेत्र में इस लिए बुलाया था कि मुख्यमंत्री हम लोगों के बीच में आए और उन्हें समाज के लोग सम्मानित करे लेकिन मुख्यमंत्री ने इन लोगों को माली कह डाला जोकि समाज के लोगों ने इस शब्द को समाज के अपमानित करने की बात कही है हालाकि मुख्यमंत्री का यह कहना था कि एक जमीनदार जो छह भीगे में जमीन को बोता है वह समाज के लोग एक बीगे में बोह देते है और जमीनदार के बदले समाज के लोग एक बीगे की फसल होती है इसी में मुख्ष्मंत्री के मुहं से निकलने माली शब्द अब परेशानी का विष्य बन गया है

बाइट सैनी समाज के प्रदेशाध्यक्ष अनिल कुमार

वीओ दो मुंख्यमंत्री ने 24 मार्च को यह शब्द कहने के बाद 25 मार्च को समाज के लोगो ंतक संदेश पहुंचाने के लिए चंडीगढ में डीपीआरओ के माध्य से अपने मुंह से निकलने शब्द को वापस लेने की बात कही है लेकिन समाज के लोग इस बात से खफा हो गए है कि मुख्यमंत्री ने एक तो गल्ती की है उपर से समाज के लोगों से सीधे तौर पर वह माफी भी नही मांग रहे ऐसे में उन्हें इसका नतीजा चुनावों के दौरान ता ेमिलेेगा ही है साथ ही साथ प्रदेशाध्यक्ष ने यह भी कहा कि पीछडा वर्ग समाज के बैनर तले वह कुरूक्षेत्र में इक्टठा होकर दिल्ली के जंत्रमंत्र पर धरना प्रदर्शन करेंगे

बाइट सैनी समज के प्रदेशाध्यक्ष अनिल कुमार सैनी

No comments:

Post a Comment

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।