Saturday, August 20, 2016

आजादी के ७० साल-याद करो कुर्बानी कार्यक्रम पर हुई पेंटिंग प्रतियोगिता

भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय के निर्देशानुसार आजादी के ७० साल- याद करो कुर्बानी कार्यक्रम के तहत डीएवी गल्र्स कॉलेज में शनिवार को पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें १०० से ज्यादा छात्राओं ने फ्रीडम फाइटर्स व फ्रीडम मुवमेंट विषय पर पेंटिंग बनाकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। कॉलेज प्रिंसिपल डा. सुषमा आर्य ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया। 

डा. आर्य ने कहा कि शहीदों द्वारा दी गई कुर्बानियों की बदौलत ही आज हम सब आजादी की हवा में सांस ले रहे हैं। जब भी हम उनकी शाहदत को याद करते हैं, तो आंखें नम हो जाती है। महात्मा गांधी ने देश की आजादी के लिए लड़ी जा रही लड़ाई को एक नई दिशा प्रदान की। जिसके उपरांत युवाओं ने उनसे प्रेरित होकर इस मुवमेंट में बढ़चढ़ कर भाग लिया। आजादी के मतवालों ने हंसते-हंसते अपने प्राणों को देश के लिए न्यौछावर कर दिया। शहीदों के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। डा. आर्य ने कहा कि आजादी के बाद देश को विकास के पथ पर अग्रसर करने के लिए सरकार द्वारा नई-नई योजनाएं संचालित की गई। उन्हीं की बदौलत आज ७० साल बाद देश हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहा है। उन्होंने छात्राओं से आह्वान किया कि वे आजादी के मतवालों को अपना प्रेरणा स्त्रोत बनाकर उनके दिखाए हुए मार्ग पर चल कर जीवन को सफल बनाएं। तभी जीवन सार्थक हो पाएगा। कॉलेज में आयोजित पेंटिंग प्रतियोगिता के दौरान प्रतिभागी छात्राओं ने शहीदों के चित्र बनाकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। साथ ही उन्होंने फ्रीडम मुवमेंट को ड्राइंग सीट्स पर उकेर कर पुरानी यादों को सभी के दिलों में ताजा कर दिया। कार्यक्रम के दौरान गृह विज्ञान विभागाध्यच्क्षा आभा खेतरपाल व संगीत विभागध्यक्षा डा. नीता द्विवेदी ने निर्णायक मंडल की भूमिका अदा की। विजेता प्रतिभागियों को कॉलेज प्रिंसिपल डा. सुषमा आर्य ने पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में वाणिज्य विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डा. मिनाक्षी सैनी व फाइन आर्ट विभाग के प्राध्यापक विकास वालिया ने सहयोग दिया। 













इस प्रकार रहा परिणाम-बी.कॉम ऑनर्स प्रथम वर्ष की छात्रा याशी ने पहला, बी.कॉम कंप्यूटर एप्लीकेशन प्रथम वर्ष की गुरप्रीत ने दूसरा तथा बीएससी नॉन मेडिकल द्वितीय वर्ष की अंबिका व बी.कॉम कंप्यूटर एप्लीकेशन प्रथम वर्ष की वैशाली ने संयुक्त रूप से तीसरा स्थान अर्जित किया। स्वाति व खुशेष्ठा को संयुक्त रूप से सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया।

No comments:

Post a Comment

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।