Thursday, August 11, 2016

डीएवी के कलाकारों ने मॉरिसिस में मंचित किया कथा अशोक नाटक

यमुनानगर। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर डीएवी गल्र्स कॉलेज की छात्राओं ने कथा अशोक नाटक, वृद्धाश्रम पर आधारित कोरियोग्राफी तथा गीता संदेश पर आधारित गीता सार की प्रस्तुति देकर प्रदेश ही नहीं, अपितु देश का नाम रोशन किया है। इंडियन मॉरिसिस ग्लोबल पार्टनरशिप कांफ्रेंस ट्रेड एंड कल्चर के तहत आयोजित कार्यक्रम में कॉलेज की नौ छात्राओं ने प्रिंसिपल डा. सुषमा आर्य के नेतृत्व में भाग लिया। मॉरिसिस के महात्मा गांधी इंस्टीट्यूट में जब छात्राओं ने कथा अशोक नाटक की प्रस्तुति दी, तो पूरा सभागार तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठा। वृद्धाश्रम पर आधिारित कोरियोग्राफी ने जहां सभी की आंखों को नम किया, तो गीता संदेश पर आधारित गीतासार के जरिए मॉरिसिस वासियों को देश के पौराणिक इतिहास से रूबरू होने का अवसर मिला। इतना ही नहीं मॉरिसिस में संचालित एमबीसी टीवी चैनल ने भी छात्राओं के उपरोक्त आइटमस को रिकॉर्ड किया। ताकि पूरे देश को भारतीय संस्कृति व इतिहास से रूबरू करवाया जा सके। मॉरिसिस के प्रधानमंत्री एच.ई.सर अनेरूद जुगनाउथ ने छात्राओं के अभिनय की खूब तारीफ की। मौके पर गोवा के डिप्टी सीएम, कल्चरल मिनिस्टर, हाउसिंग डवलेपमेंट मिनिस्टर कर्नाटक सहित मॉरिसिस कबिनेट मनीस्टर उपस्थित रहे। सभी प्रतिभगियों को ट्राफी व सर्टिफिकेट प्रदान कर सम्मानित किया गया। 

प्रिंसिपल डा. सुषमा आर्य ने बताया कि कॉलेज की छात्राओं ने निफ्फा (नेशनल इंटीग्रेटिड फोरम ऑफ ऑर्टिस्ट एंड एक्टिविसट) द्वारा आयोजित राष्ट्र स्तरीय नाटक महोत्सव में कथा अशोक नाटक की प्रस्तुति दी थी। जो कि रायपुर छत्तीसगढ़ में हुआ। जहां पर छात्राओं ने गोल्ड मेडल जीता। इसके उपरांत नाटक को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मॉरिसिस में प्रस्तुति के लिए रिकमेंड किया गया। छात्राओं ने मॉरिसिस के महात्मा गांधी इंस्टीट्यूट में कथा अशोक नाटक की प्रस्तुत देकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर डीएवी गल्र्स कॉलेज का नाम रोशन किया है। वहीं पर इस्कॉन की गोल्डन जुब्बली सेलीब्रेशन पर गीता सार की प्रस्तुति दी। जीत की फेहरिस्त है लंबी-कॉलेज की छात्राओं द्वारा प्रस्तुत कथा अशोक नाटक की जीत की फेहरिस्त लंबी है। उपरोक्त नाटक कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित जोनल व इंटर जोनल यूथ फेस्टीवल में पहला स्थान अर्जित कर चुका है। जबकि लुधियाना में आयोजित नॉर्थ इंडिया नेशनल यूथ फेस्टीवल में दूसरा तथा मैसूर में आयोजित ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी यूथ फेस्टीवल में पहला स्थान प्राप्त कर देश भर में अपनी प्रतिभा का डंका बजा चुका है। युवा एंव खेल विभाग द्वारा आयोजितत कार्यक्रम में जिला व राज्य स्तर पर भी इस नाटक ने पहला स्थान प्राप्त किया है। ऑल इंडिया स्पोट्र्स डिपार्टमेंट द्वारा रायपुर छत्तीगढ़ में आयोजित नाट्य महोत्सव में गोल्ड मेडल जीत चुका है। निफ्फा द्वारा करनाल में आयोजित इंटरनेशल फेस्टीवल में भी गोल्ड मेडल जीत चुका है। 
शांति का संदेश देकर ही बना जा सकता है महान-
कथा अशोक नाटक के दौरान छात्राओं ने अशोक के संपूर्ण जीवन चरित्र पर प्रकाश डाला। नाटक में दर्शाया गया कि युद्ध के जरिए किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सकता। केवल शांति का संदेश देकर ही महान बना जा सकता है। डीएवी गल्र्स कॉलेज की टीम ने बेहतरीन अभिनय को मॉरिसिस की मिनिस्ट्री द्वारा भी सराहा गया। नाटक को मंदीप कशिश देवगन द्वारा डायरेक्ट किया गया। 
कहानी इंतजार की कोरियोग्राफी ने नम की सबकी आंखें-
डीएवी गल्र्स कॉलेज की छात्राओं ने मॉरिसिस में जब वृद्धाश्रम पर आधारित कहानी इंतजार की . . . कोरियोग्राफी प्रस्तुत की। जिसे देखकर सभी की आंखें नम हो गई। कोरियोग्राफी में दिखाया गया कि भारत में १०१९ वृद्धाश्रम हैं, जिनमें १५ से १६ लाख वृद्ध रह रहे हैं। जो कि जिंदगी भर अपने घरवालों के आने का इंतजार करते हैं। जो उम्र उनकी पौते-पौतियों के साथ खेलने की होती है, उसे वे वृद्धाश्रम में व्यतीत कर रहे हैं। जब घर वाले उनसे मिलने नहीं आते, तो वे मौत का इंतजार करते हैं। कोरियोग्राफी में दिखाया गया कि भारतीय वृद्ध मरते दम तक अपने परिवार से जुड़ाव महसूस करते रहते हैं।


No comments:

Post a Comment

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।