Friday, February 15, 2013

जन्मदिवस एवं बसंत पंचमी महोत्सव मनाया गया।

श्री लाल द्वारा मंदिर यमुनानगर में आज श्री १००८ महंत श्री द्वारका दास जी महाराज ब्रह्मलीन तेरहवीं गद्दी दरबार श्री ध्यानपुर वालों का जन्मदिवस एवं बसंत पंचमी महोत्सव हर्षोल्लास से मनाया गया। हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने नाचगाकर जन्मोत्सव मनाया।
हवन यज्ञ के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ, जिसमें अक्षिता एवं रोहित शर्मा तथा श्रीमती नेहा एवं मुकेश कश्यप मुख्य यजमान थे। प्रसिद्ध भजनोपदेशक श्री राम जी दास एंड पार्टी सहित कई भजन मंडलियों ने अपने भजनों से श्रद्धालुओं को निहाल किया। श्रद्धालु पंक्तिबद्ध होकर महाराज की प्रतिमा पर तिलक लगाकर प्रसाद ग्रहण कर रहे थे। श्रद्धालुओं का उत्साह देखते ही बनता था।
जन्मदिवस के अवसर पर स्वामी राम जी दास ने गुरू महिमा का व्याख्यान करते हुए कहा कि गुरू के बिना मानव जीवन का महत्व नहीं है। उन्होंने कहा कि गुरू ही भगवान और मानव के बीच की कड़ी है। इसलिए हर इंसान को गुरू जरूर धारन करना चाहिए और उसके बताये रास्ते पर चलकर अपना जीवन धन्य बनाना चाहिए। श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए मंदिर कमेटी प्रधान पूर्णचंद मेहता व महासचिव सुरजीत मेहता ने बताया कि सतगुरू बावा लाल दयाल जी महाराज की ध्यानपुर गद्दी पर इस समय १५वें गुरू श्री राम सुंदर दास जी महाराज विराजमान हैं। उन्होंने बताया कि श्री ध्यानपुर गद्दी पर स्थित बावली में स्नान मात्र से संतान की प्राप्ति होती है। 
इस समय हर शहर में बावा लाल जी के मंदिर स्थित है। उन्होंने बताया कि यमुनानगर में तीन करोड़ रूपये की लागत से बने इस मंदिर को नया रूप दिया गया है और यह मंदिर इस पूरे शहर की रौनक बढ़ा रहा है। श्री मेहता ने बताया कि अब मंदिर में नव ग्रह मंदिर का निर्माण करवाया जा रहा है। इसके अलावा यज्ञशाला व प्ले स्कूल का निर्माण करवाने की भी योजना है। महोत्सव के दौरान श्रद्धालुओं के लिये लंगर प्रसाद का भी प्रबंध था। इस अवसर पर रमेश मेहता, लाला दयाल चंद खरैती लाल, विपिन शर्मा, सुरिंद्र बग्गा, सतपाल, अशोक भाटिया, राकेश शर्मा, संजय, हिमांशु, नरेंद्र ओबराय उपस्थित थे।



1 comment:

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।