Friday, August 19, 2011

सोशल नेटवर्किंग के जरिए अन्ना को सपोट

जगाधरी। करप्शन के अंगेस्ट आवाज बुलंद करने वाले ७४ वर्षीय अन्ना हजारे को सपोट करने के लिए ट्विन सिटी का यूथ भी आगे आ रहा है। यूथ न केवल सडक़ों पर उतर कर समर्थन कर रहा है, बल्कि सोशल नेटवर्किंग साइट और मोबाइल मैसेजिंग के जरिए भी भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए आवाज बुलंद कर रहा है। यूथ ने अपने लिंक में कहा है कि जब देशवासी अंग्रेजों के गुलाम थे, तो गांधी जी ने अपनी आवाज बुलंद कर आजादी दिलवाई थी। आज के समय लोग भ्रष्टाचार के गुलाम बन गए हैं, इसके लिए अन्ना आवाज उठा रहे हैं। देश को भ्रष्टाचार से मुक्त करवाने के लिए लोग भारी संख्या में इस मुहिम में शामिल हो रहे हैं।
करप्शन को खतम करने के लिए शुरू हुई अन्ना हजारे की मुहिम को सफल बनाने के लिए युवाओं ने सोशल नेटवर्किंग साइट के जरिए अपने संदेश लोगों तक पहुंचाने शुरू कर दिए हैं। युवाओं को इन दिनों साइबर कैफों में अन्ना हजारे के सपोट में सोशल साइट्स पर लिखते हुए देखा जा सकता है। मॉडल टाउन निवासी विनित कुमार, अन्नया, सवि मगो, प्रीति चौहान, कृति शर्मा का कहना है कि उन्होंने अपने साइट पर अन्ना हजारे की सपोट में मैसेज लिखा हुआ है। जिसे पढक़र अधिकांश लोग अपने कमेंट्स दे रहे हैं। साथ ही लोग इस मुहिम से जुड़ रहे हैं। डीएवी गल्र्स कालेज की पूजा  पांडे, हिना कपूर व रिचा ने बताया कि जब तक युवा आगे नहीं आएंगे, तब तक भ्रष्टाचार को खतम नहीं किया जा सकता। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू हुई मुहिम में अपना सहयोग दें। उक्त छात्राओं ने अपनी सोशल साइट पर अन्ना हजारे के समर्थन में नोट्स लिखे हैं। एमएलएन कालेज की प्रियंका, सोनम, आकृति का कहना है कि अधिक से अधिक लोगों तक मैसिज पहुंचने के लिए सोशल नेटवर्किंग सबसे बढिय़ा माध्यम है। 
 मोबाइल से मैसिजिंग-यूथ एक-दूसरे को मोबाइल मैसिजिंग के थ्रू भी अन्ना हजारे के सपोट में जुडऩे की बात रख रहे हैं। साथ ही यह भी एडवाइज कर रहे हैं कि इन मैसिजिज को अपने सभी पहचानवालों को फारवर्ड करो। जिससे अन्ना का समर्थन बढ़ता जाए। जगाधरी के महाराजा अग्रसेन कालेज के विद्यार्थी विवेक, सौरभ व अभिनव ने बताया कि जब से अन्ना ने भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम छेड़ी है, तब से अभी तक उन्होंने ५०० से ज्यादा लोगों को मैसिज के जरिए इस मुहिम से जुडऩे का आह्वान किया है। एमएलएन कालेज की श्रुति, संध्या व अश्विनी का कहना है कि उन्होंने अपने मोबाइल में मैसिज फ्री पैक डलवाया हुआ है। जिसका फायदा अब मिल रहा है। वे अपने जानकारों को अधिक से अधिक मैसिज कर अन्ना हजारे की मुहिम से जुडऩे का अग्रह कर रही हैं।

1 comment:

  1. ये कैसे कम्प्यूटर हैं जिन का मोनिटर ब्लैक हैं :)

    ReplyDelete

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।