Saturday, January 8, 2011

सर्विस टैक्स बकायादारों को निगम ने भेजे नोटिस

निगम अधिकारियों के मुताबिक 450 से अधिक दुकानदारों का बकाया
टैक्स न चुकाने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

यमुनानगर नगर निगम का तीन साल से सर्विस टैक्स दबाकर बैठे दुकानदारों पर निगम की नजरें टेढ़ी होने लगी हैं। निगम की ओर से ऐसे दुकानदारों को नोटिस भेजे जा रहे हैं। नोटिस के बावजूद टैक्स न देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यमुनानगर नगर निगम के तहत यमुनानगर में 1125 तथा जगाधरी में 150 से दुकानदार हैं जिनसे निगम की ओर से 150 से लेकर 16 हजार रुपए प्रति दुकान की दर से किराए लिया जाता है। प्रदेश सरकार की ओर से वर्ष 2007 में किराएदारों से सर्विस टैक्स लगाने का निर्णय लिया गया था।

सरकार की ओर से 12.36 प्रतिशत लगाया था। निगम अधिकारियों के मुताबिक 450 से अधिक दुकानदारों ने टैक्स का भुगतान नहीं किया।

लिहाजा, अब निगम अधिकारियों ने ऐसे दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई का मन बनाया है। निगम की ओर से ऐसे दुकानदारों की सूचियां तैयारियां की गई हैं और अब उन्हें नोटिस भेजे जा रहे हैं।

चुकाना होगा टैक्स: यमुनानगर नगर निगम अधिकारी रमेश मेहता ने बताया कि सरकार की ओर से सर्विस टैक्स घटाकर 10.30 प्रतिशत कर दिया है। दुकानदार से किराए के साथ ही टैक्स लिया जाएगा। टैक्स न देने वालों को नोटिस भेजे जा रहे हैं। करीब 25 प्रतिशत से अधिक दुकानदारों ने टैक्स का भुगतान नहीं किया है। जो टैक्स का भुगतान नहीं करेगा, उस पर सौ प्रतिशत जुर्माने का प्रावधान है। इसके अलावा हर महीने की सात तारीख के बाद टैक्स जमा करवाने पर 50 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना लगेगा।

निगम करे भुगतान, डीसी के पास पहुंचे दुकानदार
प्रभावित दुकानदार कांग्रेसी नेता देवेंद्र चावला के नेतृत्व में डीसी यमुनानगर अशोक सांगवान से मिले। दुकानदार राजेश कुमार, सुरेश व हरजिंद्र सिंह ने बताया कि यह टैक्स नगर निगम को देना चाहिए। ये टैक्स वे नहीं देंगे। इस पर निगम ने कानूनी राय ली जिसमें सामने आया कि टैक्स दुकानदारों की ओर ही बनता है।

No comments:

Post a Comment

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।