Monday, December 20, 2010

जनगणना प्रशिक्षण : तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर

उपायुक्त एवं जिला जनगणना अधिकारी अशोक सांगवान ने जिला सचिवालय के सभा कक्ष में आयोजित जनगणना 2011 में नियुक्त किए गए मास्टर टे्रनरों के तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में उन्हें संबोधित करते हुए कहा कि वे जनगणना के महत्व को समझते हुए इसके कार्यों को पूरी संजीदगी व ईमानदारी से करें और यदि उन्हें कोई शंका या शक है तो उसे वे प्रशिक्षण के दौरान ही दूर कर लें ताकि जनगणना के दूसरे चरण दौरान उन्हें अपने कार्य में कोई दिक्कत न आए।
उपायुक्त ने कहा कि जनगणना 2011 के प्रथम चरण के दौरान 15 जून 2010 तक मकान सूचीकरण का कार्य जिला में सफलता पूर्वक पूर्ण हुआ है और अब दूसरे चरण के दौरान 9 फरवरी 2011 से 28 फरवरी 2011 तक घर-घर जाकर 29 बिन्दूओं पर आंकडे इक्ठ्ठे किए जाएंगे तथा एक मार्च से 5 मार्च 2011 तक जनगणना 2011 का रिविजनल राऊंड भी चलेगा। उन्होंने बताया कि जिला में जनगणना के दूसरे चरण के तहत सभी प्रकार के कार्य करने के लिए पूरे जिला को 2438 ब्लाकों में बांटा गया है जिनमें 2611 प्रगणक, 449 सुपरवाईजर लगाए गए हैं जिन्हें मास्टर टे्रनरों द्वारा ट्रेनिंग दी जाएगी। अत: मास्टर ट्रेनरों की विशेष जि मेवारी बनती है कि इस तीन दिवसीय ट्रेनिंग शिविर में हर प्रकार की जानकारी हासिल कर लें ताकि उन्हें व प्रगणकों तथा सुपरवाईजरों को जनगणना का कार्य करने में, फार्म भरने में और लोगों से प्रश्र पूछने के दौरान कोई कठिनाई न आए। मास्टर ट्रेनरों के प्रशिक्षण शिविर में प्रथम दिन जनगणना निदेशालय हरियाणा के राष्ट्रीय टे्रेनर के.के. खटर ने जनगणना के इतिहास और महत्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी और मास्टर ट्रेनरों को जनगणना 2011 के दूसरे चरण में पूर्ण किए जाने वाले महत्वपूर्ण कार्यों एवं जानकारियों से संबन्धित आकडों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

No comments:

Post a Comment

टिप्पणी के लिये धन्यवाद।